Surya Grahan 2022 Time: जानिए कितने बजे सूर्यग्रहण का टाइम, कब लगेगा

30 अप्रैल शनिवार को साल 2022 का पहला सूर्यग्रहण Solar Eclipse लग रहा है. सूर्य ग्रहण को वैदिक ज्योतिष में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. साल का दूसरा सूर्यग्रहण अक्टूबर के महीने में लगने वाला है. सूर्यग्रहण की दृश्यता के आधार पर सूतककाल को निर्धारित किया जाता है. अगर भारत में कोई ग्रहण नजर नहीं आता है तो उसका सूतककाल मान्य नहीं होता है. सूतककाल के लिए सूर्यग्रहण आवश्यक होता है. बता दे कि इसी दिन शनि अमावस्या भी है.  

कब शुरू होगा सूर्यग्रहण ?

आपको बता दे कि सूर्यग्रहण Solar Eclipse जब चंद्रमा सूर्य को ढक देता है उसे सूर्यग्रहण कहा जाता है. इस स्थिति में सूर्य की किरणें धरती तक नहीं पहुंच पाती. यह घटना सूर्यग्रहण कहलाती है. जब चंद्रमा सूर्य को आंशिक रूप से ढकता है तो सूर्य की किरणें धरती तक कम ही पहुंच पाती है तो इसे आंशिक सूर्यग्रहण कहा जाता है. इस बार सूर्यग्रहण रात 12 बजकर 15 मिनट पर शुरू होगा. यह सुबह 4 बजकर 7 मिनट तक रहेगा. करीब 4 घंटे तक यह सूर्यग्रहण लगेगा.

कब लगता है सूतक ?

आपको बता दे कि, धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार, ग्रहण के आरंभ होने से ठीक 12 घंटे पहले सूतक काल आरंभ हो जाता है. इस दौरान पूजा पाठ के कार्यों की मनाही होती है और खाने-पीने पर भी कुछ रोक होती है. लेकिन 30 अप्रैल को लगने वाला सूर्यग्रहण भारत में कहीं भी दिखाई नहीं देगा, इसलिए इसका सूतक काल भी मान्‍य नहीं होगा. ऐसा माना जाता है कि सूतक केवल उन्‍हीं स्‍थानों के लिए माना जाता है, जहां ग्रहण दिखाई देता है. वहीं, जो लोग भारत के बाहर रहते हैं और वें सूतक को मानते हैं तो ग्रहण से ठीक 12 घंटे पहले सूतक लग जाएगा और जो कि ग्रहण समाप्‍त होने तक रहता है.

इन राशियों पर पड़ेगा प्रभाव

जानकारी के लिए बता दे कि साल 2022 के पहले सूर्य ग्रहण का प्रभाव मेष राशि  Mesh Rashi पर सबसे ज्यादा पड़ेगा. मेष राशि में पहले से राहु, चंद्र और सूर्य विराजमान हैं. इससे मेष राशि के जातकों के जीवन में तनाव उत्पन्न हो सकता है. साथ ही आपको अपनी आर्थिक परिस्थिति पर ध्यान केंद्रित करना होगा और वाणी पर नियंत्रण रखना होगा.

इसके बाद सूर्यग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव कर्क राशि Kark Rashi  के जातकों पर पड़ेगा. कुंभ राशि kumbh Rashi के जातकों पर भी शनि का प्रभाव पड़ेगा, जिसके कारण उन्हें हर कदम को सोच समझकर उठाना होगा. ज्योतिष विद्वानों के अनुसार 29 अप्रैल को शनि ढाई साल के लंबे अंतराल के बाद कुंभ राशि में प्रवेश करेगा. इससे कई ग्रहों में उथल-पुथल की संभावना है.

Follow us for More Latest News on
Author- @admin

Facebook- @digit36o

Twitter- @digit360in

Instagram- @digit360in