Rajyasabha Election 2022: चार राज्यों की 16 सीटों पर मतदान आज, राजस्थान और महाराष्ट्र में कई सीटों पर फंसा पेंच

Election 2022: शुक्रवार को 4 राज्यों की 16 राज्यसभा सीटों पर मतदान होना है. चार राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा और राजस्थान में इसके लिए वोटिंग होगी. अतिरिक्त उम्मीदवारों के मैदान में उतरने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है. इनमें से चार सीटों पर क्रॉस वोटिंग और विधायकों की खरीद-फरोख्त पर चर्चाओं का बाजार गर्म है.

विधायकों की खरीद परोख्त का डर

बता दे कि, राज्यसभा के लिए 15 राज्यों की 57 सीटों में से 41 सीटों पर उम्मीदवार पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं. चार राज्यों में बीजेपी ने अतिरिक्त उम्मीदवार उतारे है, जिससे मुकाबला दिलचस्प हो गया है.क्रॉस वोटिंग और विधायकों की खरीद फरोख्त से बचने के लिए कांग्रेस ने राजस्थान और हरियाणा के विधायकों को सुरक्षित स्थान पर रखा है.

राजस्थान में सुभाष चंद्रा पर खेला गया दांव

वहीं, राजस्थान में निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा के जरिए संख्या बल बढ़ाने में जुटी बीजेपी ने भी अपने विधायकों को एकजुट रखने के लिए मजबूत तैयारी की है. हरियाणा कांग्रेस के विधायक राज्यसभा चुनाव के लिए दिल्ली से चंडीगढ़ रवाना हो गए हैं.

कांग्रेस ने विधायकों को रखा एकजुट

बता दे कि, विधायकों को छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित एक रिसॉर्ट से दिल्ली लाया गया था. कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस मौके पर कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि हमारे उम्मीदवार अजय माकन हमारी ताकत से ज्यादा वोटों से जीतेंगे. कांग्रेस के सभी विधायक एकजुट है वह अपने प्रत्याशी को विजय बनाएंगे. हरियाणा में दो सीटों पर चुनाव होना है.

राजस्थान का चुनावी हाल

राज्थान में बीजेपी ने निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा का समर्थन किया है. कांग्रेस ने यहां से मुकुल वासनिक, रणदीप सुरजेवाला और प्रमोद तिवारी को मैदान में उतारा है. कांग्रेस के पास 108 विधायक हैं, जबकि उसका दावा है कि 13 निर्दलीय, CPM के दो और BTP के दो विधायक उसके साथ हैं. हालांकि तीनों उम्मीदवारों के बाहरी होने के कारण कांग्रेस को बगावत का डर सता रहा है.

कर्नाटक में मुकाबला दिलचस्प

कर्नाटक में कांग्रेस ने जयराम रमेश, मंसूर अली खान को मैदान में उतारा है. दूसरे उम्मीदवार को जिताने के लिए कांग्रेस को 20 अतिरिक्त मतों की जरूरत है. पार्टी को पहले JSD से समर्थन की उम्मीद थी. मगर उसने यहां कुपेंद्र रेड्डी को मैदान में उतार दिया. BJP ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अलावा लहर सिंह को भी मैदान में उतार दिया.

महाराष्ट्र में संख्या बल की दृष्टि से एक सीट ही जीत सकती है. हालांकि महाविकास आघाड़ी में फूट की संभावना और बड़ी संख्या में निर्दलीय विधायक होने के कारण बीजेपी ने दूसरा उम्मीदवार खड़ा कर दिया है. NCP और कांग्रेस ने एक-एक तो शिवसेना ने दो उम्मीदवार खड़े किए हैं.

Follow us for More Latest News on
Author- @admin

Facebook- @digit36o

Twitter- @digit360in

Instagram- @digit360in