मुख्तार अंसारी लाया जा रहा है लखनऊ: रास्ते में कुछ इस तरह बन गए थे हालात, सबने कहा- ट्रक कहां से आया

मुख्तार अंसारी को पेशी के लिए आज लखनऊ लाया जा रहा है। उनपर शत्रु संपत्ति फर्जी दस्तावेज मामले में केस दर्ज है। मुख्तार अंसारी को ले जाते वक्त रास्ते में पुलिस काफिले का वज्र वाहन खराब हो गया। जिस एंबुलेंस में मुख्तार को रखा गया है, उसमें फार्मासिस्ट, डॉक्टर और पुलिसकर्मी भी हैं।

मुख्तार अंसारी पर लखनऊ के जियामऊ इलाके में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर शत्रु संपत्ति हथिया कर उसपर अवैध निर्माण कराने का आरोप है। मामले में मुख्तार अंसारी के साथ उनके बेटे उमर अंसारी और अब्बास अंसारी पर भी केस दर्ज किया गया था।

रास्ते में कुछ इस तरह बन गए थे हालात

मुख्तार अंसारी को ले जा रही पुलिस काफिले का वज्र वाहन बीच रास्ते में ही खराब हो गया। गाड़ी खराब होने के बाद उसे धकेलते हुए सड़क किनारे की कोशिश की जा रही थी कि तभी अचानक वहां पर एक ट्रक आ गया। ट्रक को देखकर लोगों को फिर से बिकरू कांड की याद आ गई। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

मुख्तार अंसारी लाया जा रहा है लखनऊ: रास्ते में कुछ इस तरह बन गए थे हालात, सबने कहा- ट्रक कहां से आया

बता दें कि 2 जुलाई 2020 की आधी रात 12:45 बजे बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गुर्गों ने डीएसपी और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। एक-एक पुलिसकर्मी को दर्जनों गोलियां मारी थीं। इसके बाद पुलिस और एसटीएफ ने मिलकर 8 दिनों के भीतर ही विकास दुबे समेत 6 बदमाशों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था।

बिकरू गांव में पुलिस के साथ हुई इस बर्वरता के बाद जब पुलिस ने दबिश शुरू की तो विकास दुबे अपनी जान बचाने के लिए उज्जैन के महाकाल मंदिर भी गया था। एसटीएफ की टीम जब उसको कानपुर लेकर आ रही थी तो सचेंडी थाना क्षेत्र में हुए एनकाउंटर में विकास मार दिया गया था। एसटीएफ ने दावा किया था कि गाड़ी पलटने की वजह से विकास पिस्टल लूटकर भागा और गोली चलाईं। जवाबी कार्रवाई में वो ढेर हो गया।

मुख्तार अंसारी लाया जा रहा है लखनऊ: रास्ते में कुछ इस तरह बन गए थे हालात, सबने कहा- ट्रक कहां से आया

क्या है मामला?

बता दें कि मुख्तार अंसारी के खिलाफ 27 अगस्त 2020 को जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने हजरतगंज कोतवाली में दर्ज कराई थी। मुख्तार अंसारी और उसके दोनों बेटों पर आईपीसी की धारा 120बी, 420, 467, 468, 471 और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 3 में केस दर्ज किया गया था।

जिसके बाद डालीबाग स्थित मुख्तार अंसारी के मकान को जांच के बाद फर्जी दस्तावेजों के सहारे शत्रु संपत्ति हथियाने का मामला सामने आया था। इस मामले में लेखपाल सुरजन लाल की तहरीर पर केस दर्ज हुआ था। मुख्तार अंसारी के वकील काजी शबिउर्रहमान ने कल जेल अधीक्षक बांदा को पत्र लिखकर कहा था कि बीमारी के चलते मुख्तार को कोर्ट में पेश ना किया जाए।

बेटे ने जताई अनहोनी की आशंका

मुख्तार अंसारी के बेटे और विधायक अब्बास अंसारी ने अनहोनी की आशंका जताई थी। उनका कहना था कि पूर्व विधायक मुख़्तार अंसारी साहब को अभी देर रात बांदा जेल से लखनऊ ले जाने की तैयारी हो रही है, साज़िश के तहत मेडिकल कैंसल करवा कर और फिर आधी रात को बांदा जेल से लखनऊ ले जाने की ये कथित तैयारी बड़ी अनहोनी घटना की आशंका पैदा कर रही है।

Follow us for More Latest News on
Author- @admin

Facebook- @digit36o

Twitter- @digit360in

Instagram- @digit360in